सर्जिकल स्ट्राईक पर सियासत-भाजपा के लिए चुनावी बिसात तो कांग्रेस का विरोध

सर्जिकल स्ट्राईक पर सियासत-भाजपा के लिए चुनावी बिसात तो कांग्रेस का विरोध

हरिद्वार(अजंलि अग्रवाल)। क्या हमेशा राष्ट्रवाद की बात करने करने वाली सरकार आज राष्ट्रवाद की परिभाषा भूलती नजर आ रही हैं। सवाल तमाम है और सरकार को इसका जबाब भी बारीकी से देना होगा, मोदी सरकार इसपर जबाब दे या न दे लेकिन विपक्ष के लिए सरकार पर तंज कसने का मौका तो मिल ही गया है। सरकार पर देश की सुरक्षा को खतरे में डालने का आरोप लगाने में कांग्रेस सबसे आगे दिए रही है।

खास खबर—बाबा रामदेव के साथ व्यापार करने का सुनहरा अवसर,करना होगा ये काम

कांग्रेस ने देश के हर हिस्से में इसका विरोध किया है जिसमें उत्तराखण्ड भी शामिल है। उत्तराखण्ड में कांग्रेस पूर्व सैनिक विभाग ने भी राजधानी से सरकार की मनसा पर सवाल खड़े किये। पूर्व कैप्टन दलवीर सिंह ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सेना की किसी भी गतिविधि को पब्लिक करना देश के लिए खतरा पैदा कर सकता है। कैप्टन दलवीर ने कहा कि भाजपा इंडियन आर्मी का राजनैतिकरण करना चाहती है। जिसका फल भाजपा को आने वाले चुनावों में भुकतना पड़ेगा।

‘‘पराक्रम पर्व’’ पर किया गया सम्मान
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत (CM TSR) ने शनिवार को कैनाल रोड देहरादून स्थित एक स्थानीय फार्म हाउस में सर्जिकल स्ट्राइक(surgical strike) की दूसरी वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह ‘‘पराक्रम पर्व’’ में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने उपस्थित एनसीसी (NCC) कैडेटस को सम्मानित किया तथा युवा कैडेटस का उत्साहवर्द्धन किया।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने कहा कि दो वर्ष पूर्व 29 सितम्बर को भारतीय सेना ने सर्जिकल स्ट्राइक किया तथा 38 आंतकी घुसपैठियों को समाप्त किया। यह एक बड़ा साहसिक निर्णय व कार्य था। प्रधानमंत्री व देश को अपने सैनिकों की अदम्य क्षमता, साहस, पराक्रम, आत्मबल व वीरता पर अटूट विश्वास था। हम कूटनीतिज्ञ क्षेत्र में भी सफल रहे। प्रधानमंत्री ने पड़ोसी देश को स्पष्ट संदेश दिया कि बातचीत व बंदूक साथ-साथ नही चल सकती।

admin