नई शिक्षा नीति दूरदर्शिता का एक परिणाम-संजय

नई शिक्षा नीति दूरदर्शिता का एक परिणाम-संजय

नई शिक्षा नीति भारत को ले जाऐगी विश्व पटल पर: संजय सहगल

देहरादून(कमल खड़का)। नई शिक्षा नीति हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

शिक्षा मंत्री डा. रमेश पोखरियाल निशंक के अथक प्रयासों और दूरदर्शिता के कारण ऐतिहासिक 34 वर्षों के उपरांत जारी हुई है।

नई शिक्षा नीतिइस नीति के जारी होने से हमारे देश के बच्चे अब नये क्षितिज की ओर बढेंगे।

अब हमारे छात्र होंगे आत्मविश्वास से भरे हुए और पढाई के साथ-साथ तकनीकी रूप से भी होंगे सक्षम।

यह कहना है प्रदेश के राज्य मंत्री संजय सहगल, उपाध्यक्ष, राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन, स्वास्थ्य मंत्रालय का।

यह विचार उन्होंने साझा किये अमित पोखरियाल, अध्यक्ष पीआरएसआई देहरादून चैप्टर और सचिव अनिल सती के साथ,

मौका था “भारत की नवीन राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020: नवयुग का अभिनन्दन” पुस्तक जो नई शिक्षा नीति पर प्रबुद्धजनों के विचारों का बेहतरीन संकलन है को भेंट करने का।

खास खबर- धारी देवी डोली यात्रा में जानिए क्या रहा खास

यह पुस्तक अमित पोखरियाल और अनिल सती ने संयुक्त रूप से संजय सहगल, उपाध्यक्ष, एनआरएचएम को भेंट की।
संजय सहगल कहा कि पीआरएसआई देहरादून चैप्टर का यह प्रयास बहुत ही प्रशंसनीय है।

इसमें देश और प्रदेश के हर वर्ग के प्रबुद्धजनों ने अपने विचार व्यक्त किये हैं ।

उन्होंने यह भी कहा कि पीआरएसआई देहरादून चैप्टर को स्वास्थ्य विभाग के साथ भी काम करना चाहिए विशेषकर भारत सरकार,

राज्य सरकार की स्वास्थ्य सम्बन्धी जनजागरण योजनाओं का भी प्रचार प्रसार करना चाहिए।

क्योंकि जनसम्पर्क का माध्यम सबसे बेहतर माध्यम है आमजन से जुड़ने के लिए।

उन्होंने कहा कि वह लगातार एनआरएचएम की योजनाओं को प्रदेश हित में लागू करने हेतु प्रयासरत हैं ।

admin

One thought on “नई शिक्षा नीति दूरदर्शिता का एक परिणाम-संजय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *