विभागों की मनमानी के खिलाफ पीआरडी जवान की भूख हड़ताल

विभागों की मनमानी के खिलाफ पीआरडी जवान की भूख हड़ताल

चमोली(ब्यूरो)। अप्रशिक्षित पीआरडी जवानों की तैनाती के विरोध में प्रशिक्षत पीआरडी जवान का धरना लगातार जारी है।

प्रशिक्षत पीआरडी जवान बसंत लाल ने पिछले चार दिनों से चमोली के कार्यालय के परिसर में भूख हड़ताल शुरू कर दी है।

उन्होंने जिलाधिकारी से मांग की है कि विभागों में प्रशिक्षित पीआरडी जवानों को ही तैनाती दी जाए।

भूख हड़ताल पर बैठे बसंत लाल का कहना है कि पीआरडी विभाग में मनमानी चल रही है।

भाई भतीजावाद चला कर अपने चेहतों को रोजगार दिया जा रहा है।

जबकि प्रशिक्षित पीआरडी जवानों को एक-दो माह रोजगार देने के बाद उन्हें घर भेज दिया जा रहा है।

अधिकांश विभागों में अप्रशिक्षित पीआरडी जवानों को तैनात किया गया है।

यहां तक की आउट सोर्सिंग के माध्यम से भी विभागों में अप्रशिक्षित पीआरडी के नाम पर लोगों को तैनाती दी जा रही है।

ऐसे में प्रशिक्षित पीआरडी जवानों के सामने बेरोजगारी व आर्थिकी का संकट पैदा हो गया है।

उन्होंने कहा कि इस संबंध में वे पूर्व में भी जिलाधिकारी को ज्ञापन दे चुके है।

लेकिन कोई सुनवाई न होने पर उन्हें भूख हड़ताल जैसा कदम उठाना पड़ा है।

उन्होंने कहा कि पीआरडी के रूप में काम करते हुए उन्हें 31 साल से ज्यादा का समय हो गया है।

जब तक उनकी मांग पूरी नहीं हो जाती है तब तक उनकी भूख हड़ताल जारी रहेगी।

वहीं जिला युवा कल्याण अधिकारी से बात की गई तो उनका कहना था कि हम रोटेशन के तहत पीआरडी जवानों की तैनाती करते है।

admin