गणतंत्र दिवस पर इस झांकी में महात्मा गांधी और गोविंद बल्लभ पंत दिखेगें एक साथ
 

देहरादून(ब्यूरो)। गणतंत्र दिवस की राष्ट्रीय परेड में उत्तराखण्ड सरकार की ओर से कौसानी स्थित अनासक्ति आश्रम की झांकी प्रस्तुत की जायेगी। राजपथ में दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति माटामेला सिरिल रामफोसाइज की विशेष उपस्थिति में कौसानी स्थित “अनासक्ति आश्रम” की झांकी प्रस्तुत की जायेगी। देवभूमि उत्तराखण्ड में कौसानी को महात्मा गांधी ने “भारत का स्विटरजलैण्ड” कहा था, मं स्थित ’अनासक्ति आश्रम’ बहुत ही शांतिपूर्ण स्थान है। महात्मा गांधी जी ने वर्ष 1929 में कौसानी का भ्रमण किया था तथा इसी स्थान पर उन्होेंने गीता पर आधारित अपनी प्रसिद्व पुस्तक ’अनासक्ति योग’ की प्रस्तावना लिखी थी।

खास खबर— बाबा गिरवरना​थ का वार्षिक भंडारे में इस बार होगा ये होगा विशेष आकर्षण

उत्तराखण्ड राज्य की झांकी के अग्रभाग में अनासक्ति योग लिखते हुए महात्मा गांधी की बडी आकृति को दिखाया गया है। मध्य भाग में कौसानी स्थित अनासक्ति आश्रम को दिखाया गया है तथा आश्रम के दोनों ओर पर्यटक योग व अध्ययन करते हुए नागरिकों व पण्डित गोविन्द बल्लभ पंत को महात्मा गांधी जी से वार्ता करते हुए दिखाया गया है। झांकी के पृष्ठ भाग में देवदार के वृक्ष, स्थानीय नागरिकों व ऊंची पर्वत श्रृंखलाओं को दिखाया गया है। साइड पैनल में उत्तराखण्ड की सांस्कृतिक विरासत, जागेश्वर धाम, बद्रीनाथ तथा केदारनाथ मंदिर को दर्शाया गया है।
उत्तराखण्ड राज्य के झांकी के टीम लीडर के0एस0चैहान ने बताया कि राष्ट्र इस वर्ष महात्मा गांधी की 150वीं जयंती मना रहा है, इसलिये गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजपथ में भाग लेने वाली सभी झांकियों की थीम “महात्मा गांधी जी के जीवन दर्शन” पर आधारित है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *