कविता को अपने बच्चों के लिए चाहिए भारत की नागरिकता

कविता को अपने बच्चों के लिए चाहिए भारत की नागरिकता

हरिद्वार(अरुण शर्मा)। देश में इस समय राजनितिक तौर पर किसी तरह के हालात है इस पर तो एक लंबी बहस हो सकती हैं। लेकिन इस बहस से परे कुछ लोग ऐसे है जो आज भी देश की प्रशासनीय क्षमताओ पर भरोसा जता रहे हैं। इसमें देश के लोग तो है ही यह भरोसा अब पड़ोसी देश पाकिस्तान के लोगों में दिखायी दे रहा हैं। ताजा मामला पाकिस्तान से आयी एक महिला का सामने आया है जिसमें उसने भारत की नागरिकता मांगी हैं। जिसके लिए उसने हरिद्वार जिलाधिकारी से मुलाकात भी की।

खास खबर —दून वैली पर पड़ रहा है शहरीकरण का प्रभाव ये हो रहे नुकसान

पाकिस्तान के सिंध प्रांत में रहने वाले प्रीतम सिंह परिवार के साथ वर्ष 2010 में भारत आए थे इसी बीच प्रीतम सिंह ने बेटी कविता का वर्ष 2014 में सालियर गाँव निवासी शौरभ शर्मा से किया था विवाह,कविता को दो वर्ष का बेटा व एक वर्ष की बेटी हैं, 8 साल भारत में रहने के बाद भी कविता और उनके परिवार को भारतीय नागरिकता नहीं मिली,

कविता ने जिला अधिकारी दीपक रावत के पास आवेदन कर मांगी भारतीय नागरिकता,
कविता का कहना है पाक में हिन्दू परिवारों के साथ सही व्यवहार नहीं होता। कविता आगे बताती है कि वहां पर हिन्दू परिवार त्योहार घर के अन्दर मनाते हैं कविता ने कहा अब वो भारत के है और वो हमेशा भारत में ही रहेंगी।

admin