त्यौहार के सीजन में आग की घटनाओं पर काबू पाना एक चुनोती

त्यौहार के सीजन में आग की घटनाओं पर काबू पाना एक चुनोती

देहरादून(कमल खड़का)। त्योहार के सीजन में आग लगने की घटनाओं पर लगाम नही कग पा रही है।

दीपावली से पहले आग की घटनाओं को रोकने के लिए अग्निशमन विभाग पहले से ही तैयारी जरत है।

वावजूद इसके इस तरह की घटनाओं में कमी नही आ रही है।

उधम सिंह नगर में दो तहसीलों में तीन जगह आग ने अपना तांडव मचाया है।

आग घटनायों में हुई इस अग्नि कांड में लाखों का नुकसान हुआ है।

एक घटना में तीन झोपड़ियों में आग लगी एक जगह एक पान मसाले के फड़ में आग लगी तो वही एक घर मे आग लगी।

आग की एक घटना मोबाइल में लाइव कैद हो गयी है।

मुडिया कला में नवाब जान की झोपड़ी में अज्ञात कारणों से आग लग गई।

वहीं देखते ही देखते आग ने पड़ोसी आरिफ तथा बाबू की झोपड़ियों को भी चपेट में ले लिया।

वहीं शोर शराबे के बीच जब तक अन्य ग्रामीण आग बुझाने गए तक आग ने तीनों झोपड़ियों व उनमें रखे घरेलू सामान को खाक कर दिया था।

वहीं एक घटना में देर रात्रि अज्ञात कारणों के चलते एक पान के खोखे आग लग गयी।

ये आग शुगर फैक्ट्री के फील्ड में लगे पान की दुकान मेंं लगी है

इस अग्निकांड में नवाब जान का सर्वाधिक नुकसान हुआ है क्योंकि नवाब ने अपनी पुत्री के दहेज मे देने के लिये सामान बनवाया था।

जिसमें सोने व चांदी के जेवरात, मोटरसाइकिल भी थे वहीं 40 हजार की नकदी के साथ एक बकरी का बच्चा भी जलकर मर गया तथा सामान नष्ट हो गया।

वहीं आरिफ की झोपड़ी में 32 हजार की नकदी के साथ घरेलू सामान तथा बाबू का 6 हजार का नकद तथा अन्य सामान जलकर नष्ट हो गया।

वहीं पूर्व प्रधान लियाकत ने प्रशासन ने अग्निकांड के पीड़ितों की मदद के लिये कहा है।

तीसरी घटना काशीपुर की है जहां चीमा चौराहा स्थित रेलवे क्रासिंग के पास शिवनगर मोहल्ला में घर में मंदिर के रखे दीए से अचानक आग लग गई।

जिससे आसपास के लोगों में हड़कंप मच गया। आग लगने से घर में रखा लाखों का सामान जलकर राख हो गया।

बताया जा रहा है कि घटना में बक्से में रखी दो लाख रुपये की नकदी भी जलकर राख हो गयी।

कमरे से धुआं निकलता देख पड़ोसियों ने खिड़की तोड़कर आग पर काबू पाया।

admin