सेरोगेट मदर की ममता या धोखा उत्तराखंड पुलिस ने किया पर्दाफाश

सेरोगेट मदर की ममता या धोखा उत्तराखंड पुलिस ने किया पर्दाफाश

ऋषिकेश(कमल खड़का)। सेरोगेट मदर के काम पर भारी पड़ी ममता ऐसा ही एक मामला उस समय सामने आया जब ऋषिकेश पुलिस ने खुलासा करते हुए सेरोगेट मदर की धोखाधड़ी का खुलासा किया। पुलिस ने सेरोगेट मदर द्वारा छुपाये गये बच्चें को बरामद किया। मामला करीब चार साल पुराना हैं। जिसमें सेरोगेट मदर ने जन्में दो जुड़वा बच्चों में से एक को मृत बताकर उसे छुपा दिया। पुलिस छानबीन में यह खुलासा हुआ। पुलिस ने दूसरे बच्चें को बगांल से बरामद कर परिजनों को सौंप दिया हैं।

खास खबर—आचार सहिंता में आपको कहीं दिखें उल्लघन तो आप ऐसे करें शिकायत

विजयवर्धन सिहं रावत ने थाना ऋषिकेश में शिकायत दर्ज करायी कि 2014 में उनके द्वारा एक सेरोगेट मदर नूपुर उर्फ अजन्ता निवासी मेरठ को हायर किया गया था। जिसने सब कुछ हो जाने के बाद दूसरी जगह जाकर दो बच्चें के बाद भी उन्हे एक बच्चा दिया। दुसरे को छुपा दिया। पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखतें हुए मामला दर्ज कर इसकी छानबीन शुरु की तो मामला चौकाने वाला था।

सेरोगेट मदर जयगांव अलीपुर द्वार पश्चिम बंगाल में किराये के मकान में रहती थी पुलिस ने जब उससे पूछताछ की और बच्चें के बारे में पूछा तो उसने बताया कि उसे कुछ पता नही चल पाया। उसने पुलिस को बताया कि गोलू को सुमित जो कि मेरा दोस्त है अपने साथ घूमाने ले गया था, कहा ले गया मुझे इसकी जानाकरी नही है और ना ही उसके स्थायी पते के सन्दर्भ में मुझे कोई जानकारी है। जिसके बाद पुलिस ने बाग्लादेश बार्डर तक मामले की छानबीन की।

ऐसे पहुंची पुलिस बच्चे तक
पुलिस टीम की पूछताछ में पता लगा कि दूसरा बच्चा फिलहाल आरोपी की रिस्तेदारी में घर बदल-बदल कर अभियुक्त द्वारा गोपनीय रूप से छिपाया जा रहा है। पुलिस ने पूरे इस ओर पूरी पड़ताल कर पाया कि सदर बाजार मेरठ में बंगालियों का काली मन्दिर है जंहा पर बच्चें को रखा गया । ​पुलिस को बच्चे सकुशल बरामद कर लिया गया। पुलिस ने इस मामले में आरोपी का साथ दे रहे एक युवक को भी हिरासत में लिया हैं। जिससे पूछताछ की जा रही हैं

admin