बाहरी-भीतरी की तलवार पर टिकी हरदा की दावेदारी,कांग्रेस में मचा घमासान

बाहरी-भीतरी की तलवार पर टिकी हरदा की दावेदारी,कांग्रेस में मचा घमासान

देहरादून(अरुण शर्मा)।आम चुनाव से पहले हरीश रावत एक बार फिर अपनों की धार पर खड़े दिखायी दे रहे हैं। हरिद्वार लोकसभा सीट पर मानी जा रही उनकी संभावित दावेदारी को उस समय बड़ा झटका लगा जब हरिद्वार से भेजें गये तीन संभावित प्रत्याशीयों के नामों में उनका नाम ही शामिल नहीं किया गया। हरदा के लिए झटका बाहरी और भीतरी के मैदान पर दिया गया। हरदा ने भी इसका जवाब देते हुए ​टवीट करते हुए कड़ा हमला बोला। फिर क्या था पूरी कांग्रेस में ही घमासान मच गया। इस घमासान ने सोशल मीडिया पर रावत विरोधी पोस्ट से लेकर नेताओं की बयानबाजी में तेजी कर दी।

खास खबर—गुजरात के बाद उत्तराखंड बना देश का दूसरा राज्य, इस मामले में युवाओं को होगा फायदा

चुनाव से पहले कांग्रेस की अंधरूनी कलह को एक बार फिर सड़क पर आ गयी हैं। इस बार हरीश रावत की हरिद्वार लोकसभा सीट की संभावित दावेदारी को बाहरी और भीतरी की तलवार से काटने का काम किया जा रहा हैं। शायद यही वजह है कि हरिद्वार से प्रत्याशियों के तीन नामों के पैनल में हरदा का नाम नहीं है। हरदा ने भी इस बाहरी और भीतरी के सवाल पर जबरदस्त ट्वीट कर मुददे से जुड़े कांग्रेसी नेताओं को संबधं आपराधिक छवि वाले लोगों से जोड़ दिया।

कांग्रेस का घमासान-राहुल करेगें बाहरी-भीतरी का फैसला

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने हरिद्वार लोकसभा सीट को लेकर दावेदारी पेश की थी लेकिन ये कांग्रेस की अंधरूनी कलह का ही परिणाम है की हरिद्वार से प्रत्याशियों के तीन नाम के पैनल से हरदा का नाम ही गायब है। जिससे खिसयाए हरदा ने ट्वीट के माध्यम से बाहरी और भीतरी की परिभाषा ही गढ़ डाली। जिसने एक बार फिर कांग्रेस में अंधरूनी कलह की आंच में घी डालने का काम किया है। वहीं हरदा के इस ट्वीट पर पलटवार करते हुए कांग्रेस प्रवक्ता आर पी रतूड़ी ने बड़ा बयान दिया है। रतूड़ी ने कहा की बाहरी- भीतरी का फैसला करने का हक सिर्फ राहुल गांधी को ही है यही नहीं उन्होने चुनाव में दावेदारी का फैसला भी राहुल गांधी को करने वाला बताया।

admin