नगर पालिका के वोटरों से खौफ खा रहे प्रत्याशी
 

हरिद्वार (पकंज पाराशर)। पहली बार बनी नगर पालिका में वोटरों के गुस्से का सामना प्रत्याशीयों को करना पड़ रहा हैं। इस नगर पालिका में हर दल के प्रत्याशीयों को लोगों की खरी-खरी बातों से दो-चार होना पड़ रहा हैं। हम बात ​कर रहे है पहली बार अस्तिव में आयी शिवालिक नगर पालिका की जंहा जलभराव,निकासी और सड़को की समस्याओं को लेकर प्रत्याशीयों को जली-कटी सुनायी जा रही हैं। दरअसल कई सालों से बुनियादी समस्याओं से जूझ रहे क्षेत्र के लोगों के लिए अब नेताओं का इस तरह से आकर वोट मांगना कतई गंवारा नही हो रहा हैं। शायद यही वजह है कि प्रत्याशीयों को यहां आकर लोगों की खरी-खोटी सुननी पड़ रही हैं।

खास खबर—त्रिवेंद्र सरकार की विकास की बयार तो देखों,बाथरुम में जच्चा बच्चा तोड़ रहे दम

करीब 38 मतदाताओं वाली नगरपालिका शिवालिक नगर में पहले बोर्ड के गठन के लिए सभी दल एक दूसरे से आगे निकल कर प्रचार कर रहे हैं। लेकिन इस पालिका का कुछ क्षेत्र ऐसा है जंहा प्रत्याशी अपना प्रचार करने और वोट मांगने से कतराने से लगे हैं। रामधाम कालोनी और टिहरी विस्थापित कालोनी में प्रत्याशी वोट मांगने तो आ रहे है लेकिन उन्हे लोगों की खरी-खोटी भी सुनने को मिल रही हैं। फिर चाहे वह किसी भी दल का क्यों न हो।
दरअसल रामधाम कालोनी के लोग आज से नहीं अपितु जलभराव सहित बुनियादी समस्याओं से जूझ रहे थे। कोई सुनने को तैयार नहीं होता था। लोागों की मानें तो उनका कहना है कि कई बार भाजपा से लेकर कांग्रेस तक सभी के बड़े नेताओं को इसकी जानकारी दी गयी लेकिन उन्हे आश्वासन के शिवा कुछ नहीं मिला। अब फिर से चुनाव तो उन्होने नेताओं को सुनाने का काम कर रहे हैं। सुमन कहती है कि बरसात के दौरान जलभराव ऐसा होता है कि निकासी की कोई व्यवस्था न होने के कारण लोगों के घरों और दुकानों में पानी घुसकर तबाही मचाता है।
रामधाम कालोनी 4200 मतदाता और टिहरी विस्थापित कालोनी में लगभग 3200 वोटर हैं। इस क्षेत्र में टूटी सड़कें और स्ट्रीट लाइट की समस्या से लोग जूझ रहे हैं। रात के समय पैदल चलना मुश्किल हो जाता है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *