हरिद्वार में छोटी सरकार के लिए नहीं है जग​ह……अब क्या करेगा प्रशासन

हरिद्वार में छोटी सरकार के लिए नहीं है जग​ह……अब क्या करेगा प्रशासन

हरिद्वार(अरुण शर्मा)। इन उत्तराखंड में छोटी सरकार को चुने जाने के लिए जोर—अजमाईश चल रही हैं। इन सब के बीच हरिरद्वार में छोटी सरकार के चुने जाने के बाद बैठने का संकट नजर आ रहा हैं। करीब पौने दो लाख की मतदाता वाली इस नगर निगम में इस बार 60 पार्षदों के अधिवेशन के लिए निगम के पास सभागार ही नहीं हैं। जिसका शिलांयास हुआ उसे बनने में करीब डेढ साल से अधिक का समय लगेगा। ऐसे में छोटी सरकार के बैठने के लिए निगम प्रशासन जुगाड़बाजी कर रहा हैं।

खास खबर—अवैध खनन पर डीएम दीपक रावत की खतरनाक कार्यवाही

नगर निगम के नये कार्यलय का शिलांयास हो चुका है लेकिन उसमें काम आचार संहिता खत्म हो जाने के बाद शुरु होगा ऐसे में सवाल खड़ा हो रहा है कि छोटी सरकार तो चुनी जायेगी लेकिन बैठेगी कहां ? हालांकि टाउन हाल को नगर निगम प्रशासन शपथ के लिए तैयार करने में जुटा हुआ हैं। लेकिन शपथ के बाद नये बोर्ड की पहली बैठक कहां होगी यह सबसे बड़ा सवाल बना हुआ हैं।

पुराने सभागार में का यह आलम है कि वहां पहले ही 30 पार्षद ही बमुश्किल बैठ पाते थे अब ऐसे में 60 पार्षद कैसे वहां बैठ निगम के लिए काम कर पायेगें। नगर आयुक्त ललित नारायण मिश्रा की मानें तो नये भवन के निर्माण में समय लगेगा इसमें कोई दो राय नहीं है इसलिए टाउन हॉल को शपथ के लिए तैयार कराया जायेगा और उसके बाद नया भवन तैयार हो जाने तक सभी तरह की कार्यवाही टाउन हॉल मे ही संचालित की जायेगी।

admin