उत्तराखंड में कर्मचारीयों के हल्ला बोल पर सरकार सख्त,कर्मचारीयों को मिल रहा समर्थन
 

देहरादून(अरुण शर्मा)। लोकसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में उत्तराखंड में कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर उग्र होते नजर आ रहे हैं। यही नहीं कर्मचारीयों के इस आंदोलन को दूसरे कर्मचारी संगठनों का साथ भी मिल रहा हैं। मंगलवार को उपनल कर्मचारी संघ ने भी इस आदोलन को समर्थन दे दिया हैं। इससे अलग राज्य सरकार ने इस आदोलन को लेकर अपने तेवर सख्त कर लिए हैं। आपको बता दें कि 31 जनवरी को प्रदेश के ढाई लाख कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश का ऐलान कर चुके हैं। जिसके बाद सरकार और कर्मचारी के बीच टकराव की स्थिति आ गयी हैं।

खास खबर—लीवर की बिमारी वालो के लिए अच्छी खबर,गढ़वाल में यहां तीन दिन होगी मुफ्त जांच

कर्मचारी करायेगें ताकत का अहसास

प्रदेश के ढाई लाख कर्मचारियों के 31 जनवरी को सामूहिक अवकाश पर रहने के एलान के बाद सरकार ने तेवर सख्त कर लिए हैं। शासन ने आदेश दिया है कि किसी भी कर्मचारी की छुट्टी स्वीकृत नहीं की जाएगी। अगर कार्य बहिष्कार होता है तो कड़ी कार्रवाई होगी। दूसरी तरफ, कर्मचारी संगठन आर-पार की जंग के लिए कमर कस चुके हैं। संगठनों ने साफ कर दिया है कि किसी कीमत पर आंदोलन नहीं रुकेगा। कर्मचारियों की छुट्टियों पर प्रदेश सरकार की रोक के बाद उत्तराखंड अधिकारी-कर्मचारी-शिक्षक समन्वय समिति एलान किया कि 31 जनवरी को प्रदेश के कर्मचारी अपना दमखम दिखा देंगे। समिति सरकार के आदेश को तुगलकी फरमान करार देते हुए आरोप लगाया कि वह मनमानी पर उतर आई है। लेकिन कर्मचारी घबराने वाले नहीं। वे अभी नहीं तो कभी नहीं के नारे के साथ आंदोलन में अपनी ताकत दिखाने को तैयार हैं। कर्मचारियों का कहना है कि सरकार ने कर्मचारियों को दबाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सरकार ने कर्मचारियों की जायजा मांगों दबाया है।

सरकार सख्त…..
सरकार ने कर्मचारियों को सामूहिक अवकाश पर जाने से रोकने के लिए सोमवार को सख्त दिशा-निर्देश जारी कर दिए। कार्मिक विभाग ने सभी अपर मुख्य सचिवों, प्रमुख सचिवों, सचिवों, मंडलायुक्तों, अपर सचिवों और विभागाध्यक्षों को आदेश दिया कि किसी कर्मचारी की 31 जनवरी की छुट्टी स्वीकृत नहीं की जाएगी। कार्यबहिष्कार पर जाने वाले कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए बने नियमों का कड़ाई से अनुपालन किया जाए। वहीं मामले पर बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष ज्योति प्रसाद गरौला का कहना है कि सरकार तो पूरी तरह से समाज्सय बैठाने का काम कर रही है और समय-समय पर उनकी मांगों को भी पूरी कर रही है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *