गैरसैंण को लेकर सरकार और संगठन में पैदा हुई रार त्रिवेंद्र और अजय भट्ट आमने सामने
 

देहरादून(अरुण शर्मा)। गैरसैंण को लेकर भाजपा सरकार और सगंठन में रार हो चली हैं। जंहा सगठन ने गैरसैण में सत्र के आयोजन पर सवाल खड़े कर दिये है तो वहीं सरकार ने सत्र के आयोजन का फैसला सरकार का होना बता सरकार और सगंठन में बढ़ती खाई की ओर इशारा कर दिया हैं दरअसल भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के गैरसैंण में सत्र न कराने के बयान के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत के सत्र के आयोजन का फैसला सरकार का होने का बयान देकर सरकार और संगठन के बीच बढ़ती दरार को बाहर लाने का काम किया हैं। बात यहीं खत्म हो जाती तो गनीमत थी लेकिन शाम होते होते अजय भटट के बयान ने इस पर रार तेज होने के संकेत भी दे दिये हैं। अजय भटट ने सीएम के बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि सत्र का आयोजन सरकार का काम है लेकिन संगठन को भी जवाब देना होता हैं।

खास खबर—प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत SBI ने बांटे 40 लोगों को ऋण

विधानसभा सत्र आयोजित करने को लेकर बीजेपी सरकार और संगठन में दरार बढ़ती नजर आने लगी हैं। पिछले दिनो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट ने गैरसैंण में किसी तरह के सत्र के आयोजन के करने पर सवाल खड़ा कर दिया था। जिसके बाद सोमवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अजय भटट के उस बयान पर पलटवार करते हुए सत्र के आयोजन का फैसला सरकार का होने वाला बताया।
अजय भटट का बयान

विधान सभा का शीतकालिन सत्र का आयोजन आगामी चार दिसंबर से होने जा रहा हैं सत्र से पहले ही सरकार और सगंठन के बीच रार ठन गयी हैं। बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट ने गैरसैंण में किसी भी तरह के सत्र के आयोजन पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा ​था कि वहां पूर्ण तैयारीयों के बिना सत्र का आयोजन एक ड्रामा जैसा लगता हैं। उन्होने अपने बयान में कहा कि पहले वहां पूरी तैयारी हो जानी चाहिए तब किसी सत्र के आयोजन के बारे में सोचा जाना चाहिए।

मुख्यमंत्री का पलटवार

प्रदेश अध्यक्ष अजय भटट के बयान के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने इस पर पलटवार करते हुए कहा कि विधान सभा सत्र के आयोजन का फैसला सरकार का होता हैं इसलिए इसके आयोजन का फैसला भी सरकार लेती हैं। उन्होने अपने बयान में कहा कि हम पहले भी दो सत्र वहां आयोजित कर चुके हैं। अजय भटट के बयान पर सीएम से जब पूछा गया तो उन्होने किसी तरह की टिप्पणी न करते हुए केवल इतना कहा कि सब समझदार हैं।

शाम होते होते अजय भटट का हमला

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के जवाब पर अजय भट्ट का पलटवार कहा मैं पहले ही कह चुका हूं कि सत्र करवाना सरकार का काम है लेकिन सरकार भाजपा की है और संगठन को भी जवाब देना होता है। उन्होने कहा कि सरकार संगठन एक है जब सरकार नही होगी तो लोग पार्टी में ही आएंगे।

गैरसैंण के बहाने सरकार और संगठन के बीच की बढ़ती यह रार किस अंजाम तक पहुंचेगी यह तो आने वाला समय ही बतायेगा लेकिन निकाय चुनाव की जीत से मजबूत हुए त्रिवेंद्र सिंह रावत इस रार से कैसे निपटते है यह देखना खासा दिलचस्प होगा।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *