ऊर्जा प्रदेश में बिजली व्यबस्था बदहाल
 

ऊर्जा प्रदेश में 12 घंटो से भी अधिक अंधेरे में रहने को मजबूर है गांव वाले।

कहानी हरिद्वार के ग्रामीण क्षेत्र के निरंजनपुर फिटर से जुड़े हुए गांव की है।

 

सुल्तानपुर(नाथीराम कश्यप)।ऊर्जा प्रदेश में 13 घंटे से भी अधिक समय तक बिना बिजली के रहे करीब एक दर्जन गांव के ग्रामीण।

बात हरिद्वार जिले के निरंजनपुर की है जंहा शनिवार देर रात करीब 12 बजे लाइट ऐसी भागी की करीब 13 घबते बाद ही आई।

खास खबर-मनीष सिसोदिया की ललकार पर मदन ने चली ये चाल,क्या होगी दोनों में खुली बहस-बड़ा सवाल

निरंजनपुर फिटर से करीब एक दर्जन गांव जुड़े हुए है जंहा

ऊर्जा प्रदेश में बिजली व्यबस्था बदहाल
ऊर्जा प्रदेश में बिजली व्यबस्था बदहाल

के ग्रामीण बिना बिजली के रहे।

बिजली विभाग के अधिजारियों से जब ग्रामीणों ने बात की तो जवाब संतोषजनक नही मिला।

जिससे ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। ग्रामीणों का कहना है कि विधुत निगम के अधिकारियों से मांग करने के बाद करीब 1:30 दोपहर 13 घंटे बाद विद्युत आपूर्ति सुचारू की गई है।

सुल्तानपुर क्षेत्र के खानपुर ब्रह्मपुर, बाक्करपुर, रणजीत-जसपुर, रामपुर रायघटी,भिक्कमपुर, अलावलपुर, फतवा, निरंजनपुर केवलपुरी आदि करीब एक दर्जन गांव में निरंजनपुर फिटर से विद्युत आपूर्ति की जाती है।

शनिवार रात्रि करीब 12:00 बजे हल्की बरसात होने के साथ ही इन गांव की विद्युत आपूर्ति बंद हो गई थी।

ग्रामीणों की मांग पर करीब 13 घंटे बाद रविवार दोपहर 1:30 बजे विद्युत आपूर्ति सुचारू हो पाई है।

ग्रामीण राजसिंह, सचिन गोयल, विपिन, मनोज कुमार, दीपक धीमान, संजय कश्यप,

राहुल कश्यप, ज्ञानचंद प्रजापति, नफीस अली, नेपाल सैनी आदि का कहना है कि क्षेत्र के गांव में विद्युत आपूर्ति सही प्रकार से नहीं हो पा रही है।

ग्रामीणों का आरोप है कि हल्की बूंदाबांदी होने या हवा चलने पर ही विद्युत निगम के अधिकारी क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति बंद कर देते हैं।

जिससे विद्युत उपकरण नहीं चल पाते। विद्युत आपूर्ति नहीं होने के चलते लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी पेयजल की हो जाती है।

लोगों के घरों में पेयजल के लिए बिजली की मोटर लगी हुई है बिजली नही आने पर बिजली की मोटर नही चल पाती।

जिसके चलते उन्हें पेयजल प्राप्त होता है लोगों को गांव में लगे हैंड पंप से पानी लाना पड़ रहा है। जिसके चलते काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

ग्रामीणों का कहना है कि शनिवार रात्रि हल्की बरसात होने पर करीब 12:00 बजे विद्युत आपूर्ति बंद हो गई थी उसके बाद रात भर विद्युत आपूर्ति नहीं हो पाई।

रविवार दोपहर ग्रामीणों द्वारा विद्युत निगम अधिकारियों से क्षेत्र के गांव की विद्युत आपूर्ति सुचारू किए जाने की मांग करने पर रविवार दोपहर करीब 13 घंटे बाद 1:30 बजे विद्युत आपूर्ति सुचारू की गई है।

ग्रामीणों का कहना है कि क्षेत्र में विद्युत व्यवस्था ठीक नहीं हो पा रही है।

शिल्पी सैनी एसडीओ रायसी का कहना है कि रात्रि के समय विद्युत लाइन में हर्ट होने के चलते आपूर्ति बंद हो गई थी जिसे रविवार दोपहर विद्युत आपूर्ति को सुचारू करा दिया गया है।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *