जहरीली शराब के मामले में डबल इंजन का इस सत्र मास्टर स्ट्रोक,विपक्ष की बोलती हुई बंद

जहरीली शराब के मामले में डबल इंजन का इस सत्र मास्टर स्ट्रोक,विपक्ष की बोलती हुई बंद

देहरादून(अरुण शर्मा)। जहरीली शराब को लेकर डबल इंजन सरकार का मास्टर स्ट्रोक,सरकार लाने जा रही है इस सत्र में विधेयक मामले को लेकर सरकार ने बड़ा कदम उठाते हुए इस सत्र में विधेयक लाने का फैसला लिया हैं। भारत सरकार के बलात्कार को लेकर बनाये गये कानून की तर्ज पर सरकार इस विधेयक में भी सख्त कानून बनाने का दावा रही हैं। आपको बता दें कि सत्र के पहले दिन ही विपक्ष ने जहरीली शराब के मामले में हमलावर तेवर अपनाये हुए थी।

खास खबर—अवैध कच्ची शराब पर सख्ती हुई तेज,शराब तस्कर और बनाने वालों की धरपकड़ हुई तेज

विपक्ष को शांत करने के लिए राज्य सरकार का यह मास्टर स्ट्रोक साबित हो सकता हैं। आपको बता दें कि सत्र के पहले दिन ही विपक्ष ने जहरीली शराब की घटना पर सरकार को बर्खास्त करने की मांग की थी। नेता प्रतिपक्षा इंदिरा हरदयेश ने कहा कि सरकार हर तरह से शराब के मामले में सरकार की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए कहा कि यह राजनिति के लिए बहुत ही शर्मनाक हैं। इंदिरा ने पक्ष और विपक्ष दोनो को इस मामले में कटघरे में खड़ा किया। बहरहाल विपक्ष के हमलावर तेवरों पर सरकार ने जवाब देते हुए मास्टर स्ट्रोक खेलने की कोशिश तो की हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि भारत सरकार के बलात्कार को लेकर बनाये गये कानून की तर्ज पर ही इस विधेयक में सख्त नियम अवैध शराब बेचने वालो के लिए बनाये जायेगें।

 

बीजेपी के लिए गैर गैरसैंण

राज्यपाल के अभिभाषण में गैरसैंण का न होना विपक्ष को सरकार पर हमला करने का एक मौका और दे दिया । विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी का मुददा ही गैरसैण नहीं हैं। नेता प्रतिपक्ष इंदिरा हरदेयश ने कहा कि सरकार गैरसैण में राजधानी बनाना ही नहीं चाहती हैं। सरकार केवल विपक्ष पर इस मुददे को थोपना चाहती हैं। बीजेपी इसे राजनिति का मुददा बनाना चाहती हैं। इंदिरा ने आरोप लगाया कि सरकार को साफ करना चाहिए कि राजधानी कहां और कब बनेगी। विपक्ष ने सरकार पर इस मुददे पर राजनिति करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार इस मुददे पर राजनिति कर रही हैं और हम सब इसके शिकार हो रहे हैं।

admin