नील गाय के बच्चे को कुत्तों ने बनाया शिकार, माँ से बिछड़कर गांव में घुसा था

नील गाय के बच्चे को कुत्तों ने बनाया शिकार, माँ से बिछड़कर गांव में घुसा था

नील गाय के बच्चे को कुत्तों ने बनाया शिकार, माँ से बिछड़कर गांव में घुसा था

सुल्तानपुर(नाथीराम कश्यप)। नील गाय का बच्चा अपनी मां से बिछड़ कर भिक्कमपुर गांव में घुस आया।

नील गाय के बच्चे को गांव में घुसा देख आवारा कुत्तों ने उसपर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

खास खबर-महामारी में भी मदद को सबसे आगे खड़ी SDRF उत्तराखंड, आप एक संदेश तो देखे देखें

ग्रामीणों ने आवारा कुत्तों से नील गाय के बच्चे को छुड़ाया, और मामले की जानकारी वन विभाग अधिकारी को दी।

वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची। तब तक नील गाय का बच्चा मर चुका था।

वन विभाग की टीम ने मृतक नील गाय के बच्चे को उठा कर जंगल में ले जाकर गड्ढा खोदकर दबा दिया है।

जंगलों में जंगली जानवरों के लिए चारा नहीं मिलने के चलते जंगली जानवर खेतों की तरफ रुक कर रहे हैं।

रविवार शाम चारे की तलाश में नीलगाय अपने बच्चे के साथ भिक्कमपुर गांव के पास खेतों में आ गई।

इसी दौरान नील गाय का बच्चा किसी तरह अपनी मां से बिछड़ कर भिक्कमपुर गांव में आ घुसा।

गांव में घुसे नील गाय के बच्चे को देख आवारा कुत्तों ने उसपर हमला कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

मौके पर पहुंचे कुछ ग्रामीणों ने आवारा कुत्तों से नीलगाय के बच्चें को छुड़ाया, और मामले की जानकारी वन विभाग अधिकारी को दी

मामले की सूचना पर वन दरोगा जाति राम टीम के साथ मौके पर पहुंचे तब तक नील गाय का बच्चा मर चुका था।

वन दरोगा जाति राम ने बताया कि भिक्कमपुर गांव में मिले मृतक नील गाय के बच्चे को उठाकर जंगल में ले जाकर मिट्टी के अंदर दबा दिया गया है।

admin

Leave a Reply