अतिक्रमण पर एक अक्टुबर का बंद पर व्यापारी हुए दो फाड़, इस व्यापार मंडल ने​ किया विरोध

अतिक्रमण पर एक अक्टुबर का बंद पर व्यापारी हुए दो फाड़, इस व्यापार मंडल ने​ किया विरोध

हरिद्वार(कमल खड़का)। अतिक्रमण के विरोध में एकजुट हो रहे व्यापारीयों की मुहिम को उस समय बड़ा झटका लगा जब हरिद्वार के बड़ा बाजार व्यापार मंडल ने व्यापारीयों के इस विरोध स्वरुप किये जा रहे बाजार बंद का विरोध कर दिया। बड़ा बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष ने इसे व्यापारीयों की हठधर्मिता करार देते हुए कहा कि अतिक्रमण के विरोध में जब उन्होने मुहिम छेड़ी तो तब व्यापारीयों के इन नेतओं को याद नहीं आयी। बहरहाल बड़ा बाजार के व्यापारीयों के इस विरोध के बाद एक अक्टुबर को किये गये बंद के आह्वान को पलीता जरुर लग गया हैं।

खास खबर—सर्जिकल स्ट्राईक पर सियासत-भाजपा के लिए चुनावी बिसात तो कांग्रेस का विरोध

अतिक्रमण के दौरान अधिकारीयों की हठधर्मिता के विरोध में शहर व्यापारीयों ने एक अक्टुबर को बाजार बंद रखने का ऐलान किया हैं। जिसके लिए बकायदा पूरे बाजार में धूम—धूम कर प्रचार भी किया गया। रैली निकाल कर इसके लिए अन्य व्यापार मंडलों का भी सहयोग लेने का प्रयास किया गया। इस दौरान हर की पौड़ी,भीमगोड़ा,खड़खड़ी,भूपतवाला व्यापार मंडल से भी सहयोग मांगा गया। लेकिन शाम होते होते व्यापारीयों की इस रणनिति में छेद होेता दिखायी दिया और बड़ा बाजार व्यापार मंडल ने इस बंद का विरोध शुरु कर दिया। करीब तीन सौ पचास दुकानदारो के इस व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतेंद्र वर्मा ने इसे कहीं से कही तक भी सही नहीं बताया।

बयान जारी कर किया विरोध
शहर के व्यापारीयों के एक अक्टुबर को होने वाले बंद को लेकर व्यापारीयो में ही दो फाड़ नजर आने लगे हैं। एक तरफ जंहा व्यापारीयों ने रैली निकाल इस बंद में सभी से सहयोग की अपील की तो वहीं दूसरी ओर बड़ा बाजार व्यापार मंडल ने इस बंद का विरोध किया। बड़ा बाजार व्यापार मंडल के अध्यक्ष सतेंद्र वर्मा ने विडियो जारी करते हुए कहा कि आज जो जीरो जोन के व्यापार को बंद करने का ऐलान गलत है उन्होने कहा कि गत 6 को जब उन्होने इसके लिए बंद किया था तो इन लोगों ने सहयोग नहीं किया था तो आज फिर ऐसी क्या जरुरत पड़ गयी। सतेंद्र वर्मा ने कहा कि आज जो रैली निकाल कर सहयोग मांगने की बात कही उसमें भी बड़ा बाजार के किसी पदाधिकारी को नहीं पूछा गया। बड़ा बाजार के उपाध्यक्ष राजू बधावन ने कहा कि इस एक अक्टुबर को किये जा रहे बंद का कोई सहयोग नहीं किया जायेगा। उन्होने बताया कि इस दिन बड़ा बाजार के दुकानदार अपने अपने प्रतिष्ठान खुले रखेगें। राजू ने बताया कि जब पूर्व मे ही इस विषय पर आंदोलन किया गया था तो उस समय सभी पांचों व्यापार मंडल के पदाधिकारीयों को एक साथ आना चाहिए था लेकिन सब अपनी राजनिति चमकाने में लगें हुए थे।

आप भी सुने व्यापार मंडल के अध्यक्ष का बयान…….

admin