अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना-उत्तराखंड के हर परिवार को निशुल्क इलाज
 

देहरादून(पकंज पाराशर)। प्रदेश सरकार की ओर से सभी राज्यवासियों के लिए लागू की जा रही अटल आयुष्मान भारत स्वास्थ्य योजना मंगलवार को लांच हो गई। इस योजना के तहत प्रदेश के सभी परिवारों को पांच लाख रुपये तक की चिकित्सा सुविधा प्राप्त हो सकेगी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने इस योजना को लांच करने के साथ ही इसके लिए मोबाइल एप और वेबसाइट भी लांच किया। केंद्र सरकार की ओर से लागू आयुष्मान भारत योजना की तर्ज पर प्रदेश सरकार ने अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना लागू की है। उत्तराखंड ऐसा पहला प्रदेश होगा जहां सभी परिवारों को इसमें शामिल किया गया है।

खास खबर—आरा मशीन पर किया जा रहा था ये अवैध काम विभाग ने किया सील

देहरादून के रेसकोर्स स्थित बन्नू स्कूल में मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अटलजी की जयंती परअटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने इस योजना को राज्यवासीयों को समर्पित करते हुए कहा कि वे उत्तराखंड की विषमताओं को भलिभांति जानते है उन्होने इस योजना में जंहा 165 निजी और सरकारी अस्पतालों में इलाज कराने के लिए सूचीबद्व करने की बात कही तो वहीं इस योजना के तहत 1350 बिमारीयों का इलाज कराया जा सकेगा। उन्होने इस योजना को अटल जी को समर्पित किया।

बच्चों व बुजुर्ग को मफ्त ओपीड़ी

अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना में जंहा राज्य के 28 लाख परिवारों को स्वास्थ्य के लिए एक बेहतर विकल्प देने का प्रयास राज्य सरकार ने किया है। वहीं दूसरी ओर इस योजना में सूचीबद्व 165 अस्पतालों में बच्चों और बुजुर्गो के लिए निशुल्क ओपीडी कराने की धोषणा भी मुख्यमंत्री ने की हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि आगामी 26 जनवरी से इस योजना में सूचीबद्व अस्पतालों में बच्चों और बुजुर्गो की मुफ्त ओपीडी की जायेगी। मुख्यमंत्री ने साथ ही कहा कि प्रचंड बहुमत के बाद उनकी सरकार की कोशिश रहती है कि वे जो धोषणा करे उसे पूरा भी करें।

तीन बड़ी घोषणायें

अटल बिहारी वाजपेयी की जयंती उत्तराखंड के स्वास्थ्य के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मानी जा रही हैं। वहीं मुख्यमंत्री की धोषणाओं के लिहाज से 26 जनवरी के दिन को भी बहुत महत्वपूर्ण माना जा रहा हैं। अटल जी के जयंती पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तीन बड़ी धोषणा की है और इन तीनों धोषणाओं को आगामी 26 जनवरी से लागू करने की बात भी कही । उन्होने अपनी धोषणाओं में जंहा अयुष्मान योजना के तहत सूचीबद्व अस्पतालों में बच्चों और बुजुर्गो के फ्री ओपीडी की धोषणा की जबकि दूसरी धोषणा में उन्होने राज्य के सरकारी कर्मचारीयों की भांति पंजीकृत पत्रकारों को भी इस योजना से जोड़ने की बात कही वहीं उन्होने अपनी धोषणा में सबसे महत्वपूर्ण राज्य को अपनी एक एयर एंबुलेंस मिलने की भी बात कही । त्रिवेंद्र रावत ने कहा कि अभी तक राज्य में एयर लिफ्ट किसी तरह से कराया जाता था लेकिन अब 26 जनवरी से राज्य को अपनी अलग से एयर एंबुलेंस मिलेगी।

अस्पतालों को प्रोत्साहन

प्रदेश के 28 लाख परिवारों को स्वास्थ्य लाभ देने वाली इस योजना में 165 सरकारी और निजि अस्पतालों को जोड़ा गया हैं। जिसमें गाजियाबाद और दिल्ली के भी कुछ अस्पतालों को शामिल किया गया हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने बताया कि इस योजना में अस्पतालों के अच्छे काम करने पर उन्हे प्रोत्साहित भी किया जायेगा। मुख्यमंत्री रावत ने बताया कि इस योजना में जुड़े अस्पतालों में सरकारी अस्पतालों को 15 प्रतिशत प्रोत्साहन राशि दी जायेगी जबकि 35 प्रतिशत राशि अस्पतालों में बेहतर सुविधा बनाने के लिए दी जायेगी।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *