हरिद्वार दौरे पर अमित शाह लाये बाबा रामदेव के लिए “जादू की झप्पी”

हरिद्वार दौरे पर अमित शाह लाये बाबा रामदेव के लिए “जादू की झप्पी”

हरिद्वार(अंजलि अग्रवाल)। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह गुरुवार को हरिद्वार के दौरे पर पहुंचे। पिछले चार महिने में अमित शाह का यह तीसरा दौरा न केवल भाजपा की राजनितिक रणनिति का अहम हिस्सा माना जा रहा है बल्कि अमित शाह के इस दौरे में रुठे—रुठे से बाबा रामदेव को भी साधने की कोशिश नजर आ रही है। बाबा रामदेव के आचार्यकुलम का उद्घाटन करने हरिद्वार आएं अमित शाह के इस दौरे पर जंहा भाजपा की चुनावी रणनिति से जोड़ा जा रहा हैं। वहीं इसके कई मायने भी निकाले जा रहे हैं। पहले काफी समय से रुठे—रुठे नजर आ रहे बाबा को साधने का लग रहा हैं। बहरहाल विपक्ष इसे बाबा का 2019 से पहले किये जाने वाला राजनितिक ड्रामा बता अमित शाह के इस दौरे को जानकार भी महत्वपूर्ण मान रहे हैं।

खास खबर—त्रिवेंद्र सरकार कैबिनेट के अहम फैसले

बाबा रामदेव की नाराजगी—
बाबा रामदेव ने 2019 में भाजपा के प्रचाार को किया था इंकार
हरिद्वार से केंद्र के खिलाफ दिल्ली कूच करने वाले किसानों को पतंजलि में दो दिन तक रुकवाना
कालेधन पर बाबा का चुनाव से पहले दावा और बाद का रुख
बाबा रामदेव का 35 लीटर पट्रोल देने का दावा
पैरवी के बाद भी उत्तराखंड से किसी को केंद्रीय मंत्रीमंडल में शामिल न करा पाना

2019 लोकसभा चुनाव नजदीक है ऐसे में पार्टीयां पूरी ज़ोर शोर से चुनाव की तैयारियों में जुट गई हैं। जिसका असर उत्तराखंड में भी देखने को मिल रहा है। पक्ष हो चाहे विपक्ष दोनों ही ऐड़ी चोटी का जोर लगाकर रण में कुदने की तैयारियों में जुट गई हैं। यही वजह है की उत्तराखंड में भी केन्द्र के मंत्रियों के काफिलों का दौर चल रहा है। इसी क्रम में आज बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह भी हर की नगरी हरिद्वार पहुंचे, लेकिन शाह का ये दौरा चुनाव प्रसार नहीं बल्कि पतंजलि के नवनिर्मित भवन आचार्यकुलम का उद्घाटन करने हरिद्वार पहुंचे हालंकि कयास ये लगाए जा रहे हैंं की शाह इस दौरे के ज़रिए पार्टी से रामदेव के मनमुटाव को भी दूर करने आए हैं। बता दें कुछ समय पहले बाबा रामदेव ने बयान दिया था जिसमें बाबा ने 2019 में बीजेपी का प्रचार—प्रसार करने से इंकार किया था। जिसके बाद अब शाह के इस दौरे को मन—मुटाव दूर करने के नज़रिए से भी देखा जा रहा है।

 

admin