अजय भट्ट को आज कैसे याद आ गये घोड़े वाले विधायक ?

अजय भट्ट को आज कैसे याद आ गये घोड़े वाले विधायक ?

देहरादून(अरुण शर्मा)। अजय भट्ट को अचानक आज घोड़े वाले विधायक यकायक याद आ गये। उन्होने इसका बकायदा मंच से सबको बता भी दिया। भट्ट ने इसका खुलासा मुख्यमंत्री और अनेक गणमान्य लोगों के सामने कर दिया। दरअसल मंच अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना के शुभारंभ का था और जब उनका संबोधन की बारी आयी तो उन्होने एक तरफ से सबका परिचय कराना शुरु किया। उनके पिछे बैठे नरेश बंसल से लेकर जब वे सभी का नाम ले रहे थे तो विधायक गणेश जोशी का नंबर आते ही उन्होने उन्हे घोड़े वाले विधायक कह कर संबोधन कर सभी को चौका दिया यही नहीं उन्होने इसके लिए बकायदा एक दक्षिण का किस्सा भी सुनाया।

खास खबर—मुख्यमंत्री सुशासन अवार्ड-ये अधिकारी होगें सम्मानित,सोशल मिडिया के हीरो रह गये पिछे

उत्तराखंड के इतिहास में स्वास्थ्य को लेकर मिल का पत्थर साबित होने वाली अटल आयुष्मान उत्तराखंड योजना के मंच पर जंहा इस योजना को लेकर चर्चा थी तो वहीं भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट के उदबोधन को लेकर भी खासी चर्चा होती रही। दरअसल उनके संबोधन में जिस तरह से भाजपा विधायक गणेश जोशी को घोड़े वाले विधायक की संज्ञा दी गयी वह अपने आप में चौकाने वाले था। दरअसल अजय भट्ट अपने संबोधन से पहले वहां मौजूद अतिथियों का नाम ले रहे थे जब बात भाजपा विधायक गणेश जोशी की आयी तो अजय भट्ट ने तपाक से कह दिया इन विधायक जी की पहचान पूरे देश में है उन्होने पिछले दिनो दक्षिण के अपने दौरे का ज्रिक करते हुए कहा कि वहां भी लोगों ने उनसे घोड़े वाले विधायक की बारे में पूछा। बहरहाल प्रदेश अध्यक्ष के इस उद्वबोधन के बाद विधायक गणेश जोशी का चेहरा देखने लायक था।

शक्तिमान प्रकरण से बने घोड़े वाले विधायक

14 मार्च 2016 में भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने तत्कालीन कांग्रेस सरकार के खिलाफ विधानसभा कूच किया था। क्षेत्र में उस वक्त धारा 144 लागू थी। इस दौरान किसी तरह भाजपा विधायक गणेश जोशी बेरिकेडिंग पार कर अपने समर्थकों के साथ रिस्पना पुल तक पहुंच गए थे। वहां पुलिस के घुड़सवार व अन्य सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोकने का प्रयास किया। इस आपाधापी में पुलिस के घुड़सवार रविंद्र सिंह के घोड़े की टांग टूट गई थी। बाद में वायरल हुए घटनाक्रम की वीडियो में गणेश जोशी घोडे़ शक्तिमान पर लाठी से वार करते भी दिख रहे थे। शक्तिमान को बचाने का काफी प्रयास किया गया, लेकिन 20 अप्रैल को उसकी मौत हो गई थी।

admin