हरिद्वार(कमल खड़का)। हरिद्वार के नगला इमरती गांव के 28 लोगों को पुलिस ने उठा कर आइसोलेशन में भर्ती कराया। दरअसल  एम्स में भर्ती एक महिला की तीमारदार की रिपोर्ट कोरोना पोजिस्टिव आने के बाद यह कार्यवाही की गई।

 

स्वास्थ्य विभाग व पुलिस ने रात में ही 28 लोगो को उठा लिया था। जिन्हें आइसुलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है वन्ही आस पड़ोस के लोगो की भी स्किरिनिग की गई है।

स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में एक किलोमीटर के दायरे में सर्वे कराने की तैयारी की कर रही है।

नगला इमरती की एक महिला केंसर से पीड़ित है।जिसको 20 मार्च को एम्स में भर्ती कराया गया था।जिसकी तिमारदारी के लिए उसकी बहु तभी से अस्पताल में उसके साथ थी।

महिला का लड़का भी आता जाता रहता था ।17 अप्रेल को वह नगला इमरती आयी थी। और दो दिन गांव में रुकने के बाद एम्स में लौट गई ।

इसी बीच वह परिवार के साथ रही और कई लोगो से मिली। एम्स की नर्स व अटेंडेंट के साथ ही महिला की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आयी है।जिससे गांव में सतर्कता बढ़ गयी है।

बुधवार की सुबह स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में कोरोना पॉजिटिव महिला के आस पड़ोस के लोगो की स्क्रीनिंग की। स्वास्थ्य विभाग की टीम भी गांव में पहुंची । टीम ने ग्राम प्रधान सहित कई लोगो से जानकारी हासिल की।

डॉ आंसू सिंह ने बताया कि ग्राम प्रधान , आसा , आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों व स्वास्थ्य विभाग की टीम गठित की जाएगी जो गांव में एक किलोमीटर के दायरे में सर्वे करेगी ।उनकी रिपोर्ट के आधार पर गांव स्क्रिनिग कराई जाएगी ।

बाइट– डॉक्टर संजय कंसल, सीएमएस सिविल अस्पताल रुड़की

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *