हरिद्वार (विकास चौहान)। हरिद्वार में चल रहे आद्योगिक (industrial ) शिखर सम्मेलन में आज दूसरे और अंतिम दिन वेंडर डेवलोपमेन्ट पर चर्चा की गई। चर्चा में इडस्ट्रीज एसोसिएशन सहित विभिन्न उद्योगों (industrial ) से जुड़े पदाधिकारियो ने राज्य में उद्योगो की वर्तमान स्थिति व भविष्य की संभावनाओं पर गहन मंथन किया। राज्य की मुख्य समस्याओं में से एक पलायन को भी उद्योगों (industrial ) के माध्यम से कैसे खत्म किया जाए इस पर भी समिट के अंतिम दिन गहन चर्चा हुई।

खास खबर :—छात्र—छात्राओं ने रचनात्मकता लाने को Teacher को नये नये प्रयोग करने चाहिए : आकाश

राज्य के आद्योगिक विकास को लेकर हरीद्वार में चल रहा आद्योगिक शिखर सम्मेलन ने आज राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में उद्योगों को स्थापित करने पर गहन मंथन किया गया। इंडस्ट्री डायरेक्टर एससी नॉटियाल ने कहा कि राज्य सरकार आद्योगिक विकास के लिए पूरी तरह तत्परता से कार्य कर रही है। आज राज्य में नए निवेसको के लिए रोड मैप तैयार कर लिया गया है। आज राज्य के पहाड़ी क्षेत्रों में सोलर , टूरिज्म इन्डस्ट्री के विकास के लिए कई कार्य किये जा रहे है। इसके साथ ही फ़िल्म इंडस्ट्री के लिए बहुत से कार्य किये जा रहे है सरकार इन क्षेत्रों में निवेशको को लुभा रही है उम्मीद है कि आने वाले वक्त उत्तराखंड के कई क्षेत्रों निवेश के साथ रोजगार की समस्या का भी समाधान हो सकेगा।
सुमनप्रीत सिंह, निदेशक सीआईआई ने बताया कि दो दिवसीय इस सम्मलेन में राज्य के रुद्रपुर ,पंतनगर , कोटद्वार सहित हरियाणा ,पंजाब ,दिल्ली व् उत्तरप्रदेश से भी निवेशक आये है। सीआईआई की माने तो बिजनेस लिंक करने के लिए यह बेहतरीन प्लेटफार्म था इसके साथ ही यंहा लगी प्रदर्शनी को लेकर भी उत्त्साह नजर आया उम्मीद है की आने वाले वक्त में बेहतर परिणाम सामने आएंगे।
वंही दूसरी और यंहा आने वाले उद्योगपति भी इस कार्यक्रम में अपनी संभावनाएं तलाशते नजर आये अशोक विंडलास , एमडी , विंडलास फार्मास्युटिकल्स का कहना है की जब भी बड़े उद्योग आते है तो उनके साथ छोटे मझोले उद्योग भी आते है सरकार की बिजनेस पॉलिसी में जो दुविधाएं है उन्हें दूर किया जाना चाहिए तभी राज्य में निवेश बढ़ सकेगा
इस दो दिवसीय सम्मलेन का आज समापन हो जाएगा। दो दिनों तक मंथन के बाद भविष्य में इसके क्या परिणाम होंगे यह वक्त बताएगा। मगर राज्य में आद्योगिक विकास को लेकर जो प्रयास किये जा रहे है अगर वो धरातल पर उतरे तो राज्य को आर्थिक विकास का फायदा होने के साथ ही रोजगार व् पलायन की समस्या पर काफी हद तक काबू पाया जा सकता है .

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *