हरिद्वार (विकास चौहान)। योगगुरु बाबा रामदेव की हरिद्वार स्थित पतंजलि (Patanjali)आयुर्वेद संसथान ने डेंगू की पहली आयुर्वेदिक दवा बनाने का दावा किया है। पतंजलि(Patanjali) रिसर्च इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिकों ने 2 साल की कड़ी मेहनत के बाद डेंगू से निपटने के लिए डेंगूनिल वटी बनाई है। पहले जानवरों पर इस औषधि के प्री और पोस्ट मेडिकल टेस्ट किये गए फिर करीब 1800 लोगों को इस दवा से अब तक ठीक किया जा चुका है।
पतंजलि योगपीठ के महमंत्री आचार्य बालकृष्ण ने हरिद्वार के कनखल स्थित दिव्य योग मंदिर में बाकायदा प्रेस वार्ता कर इस औषधि को लांच करते हुए घोषणा की, कि देश भर के 1500 पतंजलि केंद्रों पर डेंगू के मरीजों को यह दवा निःशुल्क दी जाएगी। फिलहाल इस दवा की एक डिब्बी की कीमत 35 रुपये रखी गई है… खास बात यह है कि अगर आप डेंगू का एलोपैथिक ईलाज भी करवा रहे हों तो भी इस दवा का सेवन कर सकते हैं। आचार्य बालकृष्ण के अनुसार इस औषधि में गिलोय, पपीते के पत्ते का उपयोग किया गया है। इस मौके पर डेंगुनिल औषधि से ठीक होने वाले मरीज भी उपस्थित रहे।

 

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *