इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल से जागी नई उम्मीद

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल से जागी नई उम्मीद

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल से जागी नई उम्मीद।

एयर कनेक्टिविटी से जल्द जुड़ेगा आगरा : केंद्रीय मंत्री उड्डयन मंत्री।

आगरा( ब्यूरो)। ताजनगरी आगरा के विकास की दिशा में बहुचर्चित मैट्रो परियोजना का देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल रूप से शुभारम्भ किया।

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल
इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल

जिसमें प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी मौजूद रहे।

तो वहीं दूसरी और होटल ताज व्यू में आगरा फुटवीयर मेन्युफेक्चर्स एंड एक्सपोर्टर्स चैम्बर (एफमैक) द्वारा इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2020 का आयोजन किया गया।

यह भी पढ़े-अजब प्रेम की गजब कहानी-दो लड़कीं एक लड़के ने गंगनहर में कूद दी जान

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल से नई उम्मीद जगी है।

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2020 का शुभारंभ केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी, उत्तर प्रदेश सरकार के एमएसएमई मंत्री चौधरी उदयभान सिंह, आगरा के सांसद प्रो. एसपी सिंह बघेल ने किया।

कॉन्क्लेव में फुटवियर इंडस्ट्री के विकास के साथ-साथ आगरा में एनजीटी, टीटीजेड और सिविल टर्मिनल को लेकर केंद्रीय मंत्री के समक्ष आगरा की प्रमुख समस्याओं को प्रस्तुत किया गया।

जहां इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में में अपने सम्बोधन में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि आगरा के विकास में मेट्रो परियोजना गेमचेंजर सावित होगी।

उन्होंने आगरा में हवाई सेवाएं जल्द शुरू कराये जाने की बात भी कही, यही नहीं उन्होंने उद्योगों से जुड़ी अन्य समस्याओं से शीघ्र निजात दिलाने की बात कही।

कॉन्क्लेव की शुरुआत में एफमैक के अध्यक्ष और काउंसिल फॉर लेदर एक्सपोर्ट (सीएलई) के स्थानीय चेयरमैन पूरन डाबर ने विस्तार से आगरा के जूता उद्योग एवं अन्य उद्योग से जुड़े तमाम मुद्दे केंद्रीय मंत्री के समक्ष रखे।

वहीं एफमेक के उपाध्यक्ष राजेश सहगल ने कॉन्क्लेव से जुड़े विषयों के बारे में रूपरेखा रखी।

UP Tourist Welfare Association के राजीव सक्सेना ने कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री का ध्यान आकर्षित करते हुए कहा कि Agra में पर्यटन जितना बढ़ेगा विकास भी उतना ही तेजी से होगा।

इस अवसर पर उत्तर प्रदेश के एमएसएमई मंत्री चौधरी उदयभान सिंह ने बोलते हुए कहा कि टीटीजेज़ और एनजीटी ने उद्योगों की कमर तोड़ दी है।

उद्यमी सड़क पर आ चुके हैं। इस दिशा में जल्द positive पहल की आवश्यकता है।

वहीं सांसद प्रोफ़ेसर एसपी सिंह बघेल ने भी आगरा की वर्तमान हालात पर चिंता व्यक्त करते हुए विकास की मूलभूत आवश्यकताओं से जोड़ने पर बल दिया।

सम्बंधित केंद्रीय विभागों से बैठक कर क्रियान्वयन कराने पर जोर डाला।

कॉन्क्लेव की इस कड़ी में पर्यावरणविद इं . उमेश शर्मा ने आगरा की विभिन्न इंडस्ट्री के साथ होटल और हॉस्पिटल सेक्टर के भी एनजीटी, टीटीजेड से जुड़ी समस्याओं से प्रभावित होने की बात करते हुए केंद्रीय मंत्री के समक्ष मजबूती से अपनी बात रखी।

नेशनल चेंबर ऑफ़ कॉमर्स के पूर्व अध्यक्ष राजीव तिवारी ने भी इस दौरान अपनी बात रखते हुए कहा कि आगरा में Airport के साथ-साथ केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की यमुना को हरी भरी बनाने और दिल्ली से आगरा तक नाव चलाने की परियोजना को जल्द पूरा किये जाने की मांग की।

इन संस्थाओं की रही भागीदारी।

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव 2020 में सहयोगी संस्थाओं के रूप में आगरा फुटवीयर मेन्युफेक्चर्स एंड एक्सपोर्टर्स चैम्बर (एफमैक) के साथ काउंसिल फॉर लेदर एक्सपोर्ट,

नेशनल चैंबर एंड कॉमर्स इंडस्ट्री, लघु उद्योग भारती, टूरिज्म गिल्ड और कॉरपोरेट काउंसिल फॉर लीडरशिप एंड अवेयरनेस (सीसीएलए) की भागीदारी रही।

*विशेष रूप से रहे मौजूद*

इस दौरान एफमेक के जनरल सेक्रेटरी राजीव वासन, एमएसएमई के निदेशक टीआर शर्मा, डिप्टी डायरेक्टर मुकेश शर्मा,

सीएसटीआई के निदेशक सनातन साहू, एनएसआईसी के साखा प्रवन्धक पुष्पेंद्र सूर्यवंशी, राजेश खुराना,

गुप्ता ओवरसीज के चेयरमैन गोपाल गुप्ता, राजेंद्र गर्ग, मुनेंद्र जादौन, सुनील जैन, सीसीएलए के महासचिव अजय शर्मा, संयोजक बृजेश शर्मा,

इंडस्ट्री कॉन्क्लेव में केंद्रीय मंत्री के विकास मॉडल

डर्बी एक्सपोर्ट के जितेंद्र तिलोकानी, कर्मउद्योग के एमडी कवलजीत सिंह कोहली, बसंत ओवरसीज के कुलदीप सिंह गुजराल, मैन्युफैक्चर के रोमी लूतरा,

होटल व्यवसाई अरुण डंग, अहिंसा ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज के एमडी रोहित जैन, अहम स्टील के निदेशक मोहित जैन आदि कॉन्क्लेव में विशेष रूप से मौजूद रहे।

एफमेक के चंद्रशेखर जीपीआई, कार्यक्रम का संचालन रवि इवेंट्स के निदेशक मनीष अग्रवाल ने किया।

admin